Category: New Sad Shayari

ek jaise dost sare nahi hote

एक जैसे दोस्त सारे नहीं होते कुछ हमारे होकर भी हमारे नहीं होते आपसे दोस्ती करने के बाद महसूस हुआ कौन कहता है की तारे जमीन पर नहीं होते

तुम दोस्त बनके ऐसे

तुम दोस्त बनके ऐसे आये ज़िंदगी में की हम ये ज़माना ही भूल ही गए तुम्हे याद आये या ना आये हमारी कभी पर हम तो तेरे बगैर जीना ही भूल गए

नज़रों को नज़ारे की कमी

नज़रों को नज़ारे की कमी नहीं होती बहारों को फूल की कमी नहीं होती आप हमें क्यों याद करेंगे आप तो आसमान हो और आसमान को सितारों की कमी नहीं होती

कभी हँसा देते हो कभी

कभी हँसा देते हो कभी रुला देते हो कभी कभी नींद से जगा देते हो मगर जब भी दिल से याद करते हो कसम से जिंदगी का एक पल बढ़ा देते हो

गुजारिश हमारी वो मान

गुजारिश हमारी वो मान ना सके मजबूरी हमारी वो जान ना सके कहते है मरने के बाद भी याद रखेंगे जीते जी जो हमें पहचान ना सके

क्यों आपकी ख़ामोशी मुझे

क्यों आपकी ख़ामोशी मुझे खामोश कर जाती है क्यों आपकी उदासी मुझे उदास कर जाती है क्या रिश्ता है मेरा और आपका जो हर पल आपकी याद आ जाती है

धड़कन हमारी तुमसे जो

धड़कन हमारी तुमसे जो कहे साँसों को उसकी खबर ना लगे बहुत खूबसूरत है ये दोस्ती का रिश्ता हमारा दुआ है इसे किसी नजर ना लगे

फासले मिटा कर आपस में

फासले मिटा कर आपस में प्यार रखना दोस्ती का रिश्ता यु ही बरक़रार रखना मालूम है दोस्त बहुत है आपके पर उनके बीच अपनी इस परछाई का ख्याल रखना

ना जाने सालों बाद कैसा

ना जाने सालों बाद कैसा समां होगा हम सब दोस्तों में से कौन कहाँ होगा फिर अगर मिलना होगा तो मिलेंगे ख्वाबों में जैसे सूखे गुलाब मिलते है किताबो में

कशिश तो बहुत है मेरे

कशिश तो बहुत है मेरे प्यार में लेकिन कोई है पत्थर दिल जो पिगलता नहीं अगर मिले खुदा तो मांगूंगी उसको सुना है खुदा मरने से पहले मिलता नहीं

  • poetry
  • poetry hindi
  • poetry english