मिल जाती है कितनो



मिल जाती है कितनो को ख़ुशी मिट जाते है कितनो के गम मैसेज इसलिए भेजते है ताकि ना मिलने भी अपनी दोस्ती ना हो कम

  • poetry
  • poetry hindi
  • poetry english